“AHSAAS”

कभी ओंस की नमी है अहसास , तो कभी तारों भरी रात है अहसास, फूलों का बिछोना कभी, तो कभी काँटों का हार है अहसास। कभी प्यार भरा स्पर्श है अहसास, तो कभी कड़वाहट भरी झड़प है अहसास, प्रेमी का प्रेम कभी, तो कभी माँ की डांट है अहसास। कभी सपनों का संसार, तो कभी हक़ीकत की […]

Read More